फ़र्ज़ करो बस यही हक़ीक़त!

फ़र्ज़ करो ये जोग बिजोग का हमने ढोंग रचाया हो,
फ़र्ज़ करो बस यही हक़ीक़त बाक़ी सब कुछ माया हो|

इब्ने इंशा

Leave a Reply