चेहरे में सौ आफ़ताब रखते हैं!

वो अपने चेहरे में सौ आफ़ताब रखते हैं,
इसीलिये तो वो रुख़ पे नक़ाब रखते हैं|

हसरत जयपुरी

Leave a Reply