पहली सी नहीं, कुछ कम है!

आज भी है तेरी दूरी ही उदासी का सबब,
यह अलग बात कि पहली सी नहीं, कुछ कम है|

शहरयार

Leave a Reply