टूटे हुए पर बोलते हैं!

मेरी परवाज़ की सारी कहानी,
मेरे टूटे हुए पर बोलते हैं|

राजेश रेड्डी

Leave a Reply