सज्जन किसका काम बनाए!

शिष्टाचार भ्रष्टता दोनों—
ने अपने सब द्वैत मिटाए ।

दुर्जन पार लगाता नैया,
सज्जन किसका काम बनाए ।

बालस्वरूप राही

Leave a Reply