क्या क्या जुल्म न ढाया लोगों ने!

हम को दीवाना जान के क्या क्या जुल्म न ढाया लोगों ने,
दीन छुड़ाया, धर्म छुड़ाया, देस छुड़ाया लोगो ने|

कैफ़ भोपाली

Leave a Reply