तुम्हारी ज़ुबान थोड़ी है!

हमारे मुँह से जो निकले वही सदाक़त है,
हमारे मुँह में तुम्हारी ज़ुबान थोड़ी है|

राहत इन्दौरी

Leave a Reply