हथेली पे जान थोड़ी है!

मैं जानता हूँ के दुश्मन भी कम नहीं लेकिन,
हमारी तरहा हथेली पे जान थोड़ी है|

राहत इन्दौरी

Leave a Reply