मुझे कौन उभरने देगा!

डूब जाने को, जो तक़दीर समझ बैठे हों,
ऐसे लोगों में मुझे कौन उभरने देगा|

वसीम बरेलवी

Leave a Reply