हदें पार न करने देगा!

प्यार तहज़ीब-ए-तअल्लुक़ का अजब बंधन है,
कोई चाहे, तो हदें पार न करने देगा।

वसीम बरेलवी

Leave a Reply