जो अश्क है आँखों में!

ये किसका तसव्वुर है ये किसका फ़साना है,
जो अश्क है आँखों में तस्बीह का दाना है|

जिगर मुरादाबादी

Leave a Reply