सदियों तक यह खेल रचाना है!

हम लोग खिलौना हैं एक ऎसे खिलाड़ी का,
जिसको अभी सदियों तक यह खेल रचाना है|

साहिर लुधियानवी

Leave a Reply