अभी औरों को सताया जाए!

ख़ुदकुशी करने की हिम्मत नहीं होती सब में,
और कुछ दिन अभी औरों को सताया जाए|

निदा फ़ाज़ली

Leave a Reply