रहज़नी है कि दिल-सितानी है!

रहज़नी है कि दिल-सितानी है,
ले के दिल, दिलसितां रवाना हुआ|

मिर्ज़ा ग़ालिब

2 Comments

Leave a Reply