जीने का हौसला क्यूँ है!

जो दूर दूर नहीं कोई दिल की राहों पर,
तो इस मरीज़ में जीने का हौसला क्यूँ है|

राही मासूम रज़ा

Leave a Reply