जीना आसान कर लिया है!

आख़िर हटा दीं हमने भी ज़ेहन से किताबें,
हमने भी अपना जीना आसान कर लिया है|

राजेश रेड्डी

Leave a Reply