मुसीबतों को मेहमान कर लिया है!

हर बार अपने दिल की बातें ज़बाँ पे लाकर,
हमने मुसीबतों को मेहमान कर लिया है|

राजेश रेड्डी

Leave a Reply