कलेजा निकल पड़े!

जिस तरह हँस रहा हूँ मैं पी पी के गर्म अश्क,
यूँ दूसरा हँसे तो कलेजा निकल पड़े|

कैफ़ी आज़मी

Leave a Reply