मेरी ख़ातिर क्यूँ उलझे हो!

अपने शहर के सब लोगों से,
मेरी ख़ातिर क्यूँ उलझे हो|

मोहसिन नक़वी

Leave a Reply