शम-ए-तरब बुझी नहीं है!

दिल में जो जलाई थी किसी ने,
वो शम-ए-तरब* बुझी नहीं है|
*Lamp Of Joy
अली सरदार जाफ़री

Leave a Reply