अब ख़ुशी है न कोई!

अब ख़ुशी है न कोई दर्द रुलाने वाला,
हमने अपना लिया हर रंग ज़माने वाला|

निदा फ़ाज़ली

Leave a Reply