कोई फिसलकर नहीं गिरता!

इतना तो हुआ फ़ाएदा बारिश की कमी का,
इस शहर में अब कोई फिसलकर नहीं गिरता|

क़तील शिफ़ाई

Leave a Reply