किसी से भी रिआ’यत नहीं करता!

क्यूँ बख़्श दिया मुझसे गुनहगार को मौला,
मुंसिफ़ तो किसी से भी रिआ’यत नहीं करता|

क़तील शिफ़ाई

Leave a Reply