चाँदनी में भिगोया करेंगे हम!

जब दूरियों की आग दिलों को जलाएगी,
जिस्मों को चाँदनी में भिगोया करेंगे हम|

क़तील शिफ़ाई

Leave a Reply