बहुत आगे ज़माने निकल आए!

अब तेरे बुलाने से भी हम आ नहीं सकते,
हम तुझ से बहुत आगे ज़माने निकल आए|

मुनव्वर राना

1 Comment

Leave a Reply