हमारी तुम्हारी मुलाक़ात होगी!

जहाँ वादियों में नए फूल आए,
हमारी तुम्हारी मुलाक़ात होगी|

बशीर बद्र

Leave a Reply