पाँव का काँटा हमीं से निकलेगा!

न हम-सफ़र न किसी हम-नशीं से निकलेगा,
हमारे पाँव का काँटा हमीं से निकलेगा|

राहत इन्दौरी

Leave a Reply