अकेला होने लगता है!

ये दिल बचकर ज़माने भर से चलना चाहे है लेकिन,
जब अपनी राह चलता है अकेला होने लगता है|

वसीम बरेलवी

1 Comment

Leave a Reply