सूरज से बदन छुपा रहा हूँ!

सीने में मिरे है मोम का दिल,
सूरज से बदन छुपा रहा हूँ|

क़तील शिफ़ाई

Leave a Reply