जिनके मुँह में ज़बान बाक़ी है!

सर क़लम होंगे कल यहाँ उनके,
जिनके मुँह में ज़बान बाक़ी है|

राजेश रेड्डी

Leave a Reply