मगर दिल को दुखाने नहीं आते!

अहबाब भी ग़ैरों की अदा सीख गए हैं,
आते हैं मगर दिल को दुखाने नहीं आते|

बशीर बद्र

Leave a Reply