हुक्म है हालाँकि कुछ नहीं हूँ मैं!

सितारो आओ मिरी राह में बिखर जाओ,
ये मेरा हुक्म है हालाँकि कुछ नहीं हूँ मैं|

राहत इन्दौरी

Leave a Reply