हाथ में ख़ाली कमान बाक़ी है!

अब आया तीर चलाने का फ़न तो क्या आया,
हमारे हाथ में ख़ाली कमान बाक़ी है|

जावेद अख़्तर

Leave a Reply