नहीं अपनी ख़बर शाम के बाद!

मेरे बारे में कोई कुछ भी कहे सब मंज़ूर,
मुझको रहती ही नहीं अपनी ख़बर शाम के बाद|

कृष्ण बिहारी ‘नूर’

Leave a Reply