उसने अपनी भी बात मानी है!

वो भला मेरी बात क्या माने,
उसने अपनी भी बात मानी है|

फ़िराक़ गोरखपुरी

Leave a Reply