ज़िंदगी दर्द की कहानी !

ज़िंदगी दर्द की कहानी है,
चश्म-ए-अंजुम में भी तो पानी है|

फ़िराक़ गोरखपुरी

Leave a Reply