यार सबको बना लिया न करो!

अपने रुत्बे का कुछ लिहाज़ ‘मुनीर’,
यार सबको बना लिया न करो|

मुनीर नियाज़ी

Leave a Reply