मेरा ही रास्ता अकेला था!

साथ तेरा न कुछ बदल पाया,
मेरा ही रास्ता अकेला था|

वसीम बरेलवी

Leave a Reply