क्या मेरे हक़ में फ़ैसला देगा!

मेरा क़ातिल ही मेरा मुंसिब है,
क्या मेरे हक़ में फ़ैसला देगा|

सुदर्शन फ़ाकिर

1 Comment

Leave a Reply