यारों ने भी दिल तोड़ दिया है!

अग़्यार का शिकवा नहीं इस अहद-ए-हवस में,
इक उम्र के यारों ने भी दिल तोड़ दिया है|

महेश चंद्र नक़्श

Leave a Reply