यहाँ कौन किसको पहचाने!

सुना करो मिरी जाँ इनसे उनसे अफ़्साने,
सब अजनबी हैं यहाँ कौन किसको पहचाने|

कैफ़ी आज़
मी

Leave a Reply