इक दिन तिरा याद आना भी!

दिल की बिगड़ी हुई आदत से ये उम्मीद न थी,
भूल जाएगा ये इक दिन तिरा याद आना भी|

वसीम बरेलवी

Leave a Reply