हमने दिल को शाद किया!

बड़े बड़े ग़म खड़े हुए थे रस्ता रोके राहों में,
छोटी छोटी ख़ुशियों से ही हमने दिल को शाद किया|

निदा फ़ाज़ली

Leave a Reply