मुलाक़ात की कोशिश नहीं की!

वो हमें भूल गया हो तो अजब क्या है ‘फ़राज़’,
हम ने भी मेल-मुलाक़ात की कोशिश नहीं की|

अहमद फ़रा

2 Comments

Leave a Reply