ख़ुशबू की तरह रंग हिना का होता!

काँच के पार तिरे हाथ नज़र आते हैं,
काश ख़ुशबू की तरह रंग हिना का होता|

गुलज़ार

Leave a Reply