आज दिल खोल कर ही पी जाए!

बोतलें खोल के तो पी बरसों,
आज दिल खोल कर ही पी जाए|

राहत इन्दौरी

Leave a Reply