अब कारख़ाना चल रहा है!

यहाँ इक मदरसा होता था पहले,
मगर अब कारख़ाना चल रहा है|

राहत इन्दौरी

Leave a Reply