अभी हम ज़िंदगी से मिल न पाए!

अभी हम ज़िंदगी से मिल न पाए,
तआ’रुफ़ ग़ाएबाना चल रहा है|

राहत इन्दौरी

Leave a Reply