बुज़ुर्गों का ख़ज़ाना चल रहा है!

जवानी की हवाएँ चल रही हैं,
बुज़ुर्गों का ख़ज़ाना चल रहा है|

राहत इन्दौरी

2 Comments

Leave a Reply