वही बूढ़ा बहाना चल रहा है!

वही महशर वही मिलने का वा’दा,
वही बूढ़ा बहाना चल रहा है|

राहत इन्दौरी

Leave a Reply